September 30, 2022

HACKED BY AYYILDIZ TIM

HACKED BY AYYILDIZ TIM Yıldırım Orduları Birim Komutanlığı

गलवन में घायल सैनिक को ओलिंपिक मशाल वाहक बनाने पर अमेरिका भी नाराज, कहा- पड़ोसियों को डराता है चीन

गलवन घाटी में भारतीय सैनिकों की मार से घायल चीनी सैनिक को विंटर ओलिंपिक-2022 में मशाल वाहक बनाए जाने की घटना की परोक्ष तौर पर निंदा करते हुए अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाया है कि वह अपने पड़ोसी देशों को डराने का काम करता है। Daily Country News ने इस खबर के बारे में अपनी वेबसाइट पर लिखा।

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। गलवन घाटी में भारतीय सैनिकों की मार से घायल चीनी सैनिक को विंटर ओलिंपिक-2022 में मशाल वाहक बनाए जाने की घटना की परोक्ष तौर पर निंदा करते हुए अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाया है कि वह अपने पड़ोसी देशों को डराने का काम करता है। इसके साथ ही अमेरिका ने यह भी कहा है कि वह हिंद प्रशांत क्षेत्र में अपने मित्र देशों के साथ लगातार काम करता रहेगा।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय का यह महत्वपूर्ण बयान तब आया है जब भारत और अमेरिका के विदेश मंत्रियों की मुलाकात की तैयारी चल रही है। अगले हफ्ते ही आस्ट्रेलिया में दोनों के बीच द्विपक्षीय बैठक होनी है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से यह पूछा गया था कि गलवन घाटी में घायल सैनिक को मशाल वाहक बनाने को वो किस तरह से देख रहे हैं, इस पर उनका जवाब था कि जहां तक भारत-चीन के बीच सीमा विवाद का मामला है तो हम दोनों के बीच सीधी बातचीत व विवादों का शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं।

शीतकालीन ओलंपिक खेलों के किसी भी समारोह में नहीं शामिल होगा भारत (सोर्स: एएनआई)

पड़ोसियों को डराने की कोशिशें

हालांकि पूर्व में भी हमने चीन की तरफ से पड़ोसियों को डराने की हरकतों को लेकर अपनी चिंता साफ तौर पर रखते रहे हैं। हम हमेशा से अपने मित्र देशों के साथ खड़े होते हैं और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति व समृद्धि को लेकर इन मित्र देशों के साथ काम करते रहेंगे।

भारत के विरोध को किया स्‍वागत

अमेरिका के खिलाफ लामबंद हुए रूस और चीन

बीजिंग, रायटर। भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया और कुछ अन्य देशों के राजनयिक बहिष्कार के बीच शुक्रवार को विंटर ओलिंपिक खेल शुरू हुए। उद्घाटन समारोह में सबसे प्रमुख अतिथि के रूप में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हिस्सा लिया, आमंत्रित अतिथियों में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी मौजूद थे। समारोह से निकलते ही पुतिन की चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ ‘पावर मीटिंग’ हुई। इस बैठक में अमेरिका के खिलाफ हर सीमा से परे जाकर सहयोग का एलान हुआ।

politicsinternationalUS China TensionBeijing Winter OlympicsOlympic games 2022Galwan ValleyWinter OlympicChina Xi JinpingPM Modidiplomatic boycottIndian EnvoyGalwan clasholympic torchbearerMinistry of External AffairsPeoples Liberation ArmyUS lawmakerOlympics Torch RelayUS External Ministryचीन को सख्त संदेशNewsInternational News

You may have missed